RSS News: दो दशक पहले शुरू हुई थी मुस्लिम समाज और संघ के बीच संवाद बढ़ाने की प्रक्रिया

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत बृहस्पतिवार को मदरसे के साथ मस्जिद गए। दोनों स्थानों पर उन्होंने कई घंटे बिताएं और इमाम, मुफ्ती व छात्रों से खुलकर संवाद किया। विशेष बात कि उनके साथ संघ के कई अन्य राष्ट्रीय पदाधिकारी भी थे, जिन्हें खास तौर पर मुस्लिम समाज से परस्पर संवाद बढ़ाने की जिम्मेदारी दी गई है। वैसे, संघ को जानने वालों के लिए यह घटनाक्रम कोई नया नहीं है। क्योंकि, हाल के वर्षाें में मोहन भागवत समेत अन्य राष्ट्रीय पदाधिकारियों का मुस्लिम धर्मगुरुओं, बुद्धीजीवियों और प्रबुद्ध लोगों से मिलने का सिलसिला चला आ रहा है। हालांकि, भागवत एक कदम आगे बढ़ते हुए पहली बार मदरसे में मुस्लिम छात्रों से मिले हैं। इसके पहले कोई सरसंघचालक मदरसा में नहीं गया था। उनके इस कदम को मुस्लिम समाज से संवाद और मजबूत करने की कोशिशों के तौर पर देखा जा रहा है। इसके साथ ही इसमें यह संदेश भी है कि संघ किसी के प्रति भेद नहीं रखता है और देशहित में काम करने वालों को साथ लेकर आगे बढ़ेगा।

Source : More...
next