भारत ने जलवायु न्याय के क्षेत्र में अपनी उपलब्धियों को जाहिर कर दुनिया को दिखाई राह, एक्सपर्ट व्यू

मिस्र में सीओपी-27 के दौरान अमीर देश धरती से अधिक अपने फायदे के लिए अंतिम समझौते को तोड़ने-मरोड़ने में व्यस्त थे। इस बीच भारत ने जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन में अपनी दीर्घकालिक कम उत्सर्जन विकास रणनीति पेश कर साहसिक कदम उठाया है। अपनी विकास की तीव्र आकांक्षाओं के बीच भारत ने जलवायु न्याय के क्षेत्र में अपनी उपलब्धियों और भावी प्रतिबद्धताओं को जाहिर कर दुनिया को एक राह दिखाई है।

Source : More...
next