पढ़िए देश की राजधानी दिल्ली के एक गांव का हाल, जहां आज तक नहीं बन पाया महज एक अस्पताल

जटखोड़ गांव के साथ आज से नहीं, वर्षों से सौतेला व्यवहार किया जा रहा है। इसी का परिणाम है कि गांव पिछड़ता जा रहा है। न गांव की सड़कें ठीक हैं, न स्ट्रीट लाइट। न सामुदायिक भवन बैठने लायक है और न ही ग्रामीणों के लिए इलाज की सुविधा। न बच्चों के लिए स्कूल या पार्क हैं और न ही पुख्ता सार्वजनिक परिवहन सुविधा। इस वजह से गांव के लोगों में काफी रोष है।

Source : More...
next