जानिए कब है षटतिला एकादशी व्रत, साथ ही पढ़ें महत्व और पूजन विधि भी

2022 के पहले माह में दूसरा एकादशी व्रत 28 जनवरी को है। इसे षटतिला एकादशी व्रत के नाम से जाना जाता है। धर्म वैज्ञानिक पंडित वैभव जोशी के अनुसार षटतिला एकादशी व्रत हर साल माघ माह में कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि के दिन रखा जाता है। षटतिला एकादशी व्रत जगत के पालनहार विष्णु जी का आशीर्वाद पाने के लिए किया जाता है। षटतिला एकादशी को पापहारिणी के नाम से भी जाना जाता है, जो समस्त पापों का नाश करती है। इस व्रत को करने से घर में सुख-शांति के वास के साथ मनुष्य को इस लोक में सभी सुखों की प्राप्ति होकर अंत में मोक्ष की प्राप्ति होती है। इस दिन काली गाय और तिल के दान का विशेष महत्व है। इस दिन व्यक्ति अगर तिल का उपयोग करे तो पाप कर्मों से मुक्ति मिलती है। इस दिन साधक को प्रात:काल स्नान करके भगवान विष्णु की पूजा करनी चाहिए। भगवान विष्णु को तिल और उड़द मिश्रित खिचड़ी का भोग लगाना चाहिए।

Source : More...
next