MP Politics: कमजोर आर्थिक स्थिति वाले किसानों के पुराने सवाल का जवाब मिले, फिर नई बातें

भारत जोड़ो यात्रा के बहाने मध्य प्रदेश पहुंचे राहुल गांधी के साथ प्रदेश में पिछले करीब चार साल से भटक रही एक जन-जिज्ञासा का भी इंतजार पूरा होने की उम्मीद जगी है। यह कृषि आधारित जीवनशैली और अर्थव्यवस्था वाला प्रदेश है जो अब गेहूं उत्पादन में पंजाब को टक्कर दे रहा है। वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव से लगभग पांच महीने पहले राहुल गांधी मंदसौर आए थे। वहां एक सार्वजनिक कार्यक्रम में उन्होंने नारा दिया था- कांग्रेस का कहना साफ, हर किसान का कर्जा माफ। उस वक्त कांग्रेस ने करीब 41 लाख किसानों का 56 हजार करोड़ रुपये कर्ज माफ करने का संकल्प जताया था। छोटी-छोटी जोत और कमजोर आर्थिक स्थिति वाले किसानों पर इस वादे का जादुई असर हुआ।

Source : More...
next
Inter State Border Disputes: असम-मेघालय ही नहीं इन 8 राज्यों में भी है सीमा विवाद, जानें आखिर क्या है मसला

असम-मेघालय सीमा पर बीते दिन हिंसा भड़कने से 6 लोगों की मौत हो गई। ये हिंसा लकड़ी की तस्करी को रोके जाने के दौरान हुई। हिंसा में वन रक्षक भी मारा गया। हालांकि यह हिंसा लकड़ी की तस्करी को लेकर हुई लेकिन इस राज्यों में सीमा विवाद को लेकर भी हिंसा होना आम बात है। सीमा विवाद को लेकर दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों की कई दौर की बैठकों के बावजूद कोई हल नहीं निकल पाया है। लेकिन क्या आप जानते हैं असम मेघायल के अलावा भी कई और राज्य है जिनके बीच सीमा विवाद चल रहा है।

Source : More...
next
Himachal Election Result 2022: हिमाचल की सत्ता तक पहुंचने के लिए किसकी टिकट होगी कन्फर्म, अभी करना होगा इंतजार

हिमाचल प्रदेश कैडर के तीन आइएएस अधिकारियों राम सुभाग सिंह, निशा सिंह और संजय गुप्ता को मुख्यधारा से हटा, सलाहकार बना कर प्रदेश सरकार ने राम दास धीमान को मुख्य सचिव बनाया था जो अगले माह सेवानिवृत्त हो रहे हैं। हिमाचल प्रदेश काडर से वरिष्ठता क्रम में अब वरिष्ठ नौकरशाह अली रजा रिजवी और के संजयमूर्ति हैं जो केंद्र में सचिव हैं। उनके बाद वर्तमान अतिरिक्त मुख्य सचिव प्रबोध सक्सेना हैं। इनके अलावा, कोई अधिकारी मुख्य सचिव श्रेणी का नहीं है तो स्पष्ट है कि प्रबोध सक्सेना ही मुख्य सचिव पद के स्वाभाविक दावेदार हैं। यह कहना बड़ा कठिन है कि वह मुख्य सचिव बनेंगे या नहीं। किंतु इस बीच खाली बैठे लोगों ने जिस तरह न्यायपालिका का समय बर्बाद किया है, अपना कार्य छोड़ कर अतिरिक्त गतिविधियां की हैं, उससे कुछ प्रश्न अवश्य उठते हैं।

Source : More...
next
Delhi Palam Murder Case: कहीं आपका बच्चा भी न बन जाए केशव, नोट करें मनोचिकित्सक की 4 अहम बातें

। पश्चिमी दिल्ली के पालम इलाके में 25 वर्षीय युवक ने दादी दीवानो देवी, पिता दिनेश सैनी, मां दर्शन सैनी और बहन उर्वशी की हत्या इसलिए कर दी, क्योंकि वह उसे नशा करने के लिए पैसे नहीं दे रहे थे। इस पर अदिति महाविद्यालय में मनोविज्ञान की सहायक प्रोफेसर डा. प्रिया कंवर का कहना है कि कई बार माता-पिता अपने बच्चों की बुराई के बारे में अपने बच्चों या अपने करीबियों से खुलकर बात करने से हिचकते हैं। खासकर बात जब नशे की लत की हो।

Source : More...
next
Shraddha Murder Case: रिश्तों में ‘श्रद्धा’ तलाशने का समय, समझना होगा संबंधों का मनोविज्ञान

दिल्ली के मेहरौली में मई में घटी एक घटना का जब हाल में पर्दाफाश हुआ तो लोग सन्न रह गए। अधिकांश परिवारों में लोग बेटियों व उनके पुरुष मित्रों के प्रति सतर्कता बरतने लगे हैं। दरअसल आज की पीढ़ी ने अपने परिवार से, अपनों से, स्वजन के लिए एक लकीर खींच दी है, जिसके आगे हस्तक्षेप उन्हें बरदाश्त नहीं होता। विशेषकर रिश्तों के प्रति आज की पीढ़ी का बढ़ता अलगाव और नासमझी अपने भविष्य को क्या देगी, इसकी परिकल्पना बहुत विचलित करती है। इन्हें संविधान, अधिकार, कानून की गहरी समझ नहीं है, परंतु परिवार को यह कहने से नहीं चूकते कि उन्हें बोलने और स् तंत्र रूप से जीने का अधिकार है। बाकायदा उम्र का हवाला होता है।

Source : More...
next
Haryana Doctor: भावी डाक्‍टरों व हरियाणा सरकार में टकराव, राज्‍य में अनिवार्य रूप से देनी होगी सात साल की सेवा

राज्य ब्यूरो, चंडीगढ़। Haryana Medical Education: हरियाणा के सरकारी मेडिकल कालेजों में एमबीबीएस की पढ़ाई करने वाले भावी चिकित्सकों और प्रदेश सरकार के बीच टकराव बढ़ता जा रहा है। सरकारी अस्पतालों में डाक्टरों की कमी को पूरा करने का लक्ष्य लेकर चल रही सरकार और आंदोलनकारी एमबीबीएस के विद्यार्थियों में से कोई भी झुकने को तैयार नहीं हैं। प्रदेश के सरकारी मेडिकल कालेजों में एमबीबीएस की पढ़ाई करने वाले विद्यार्थियों के लिए हरियाणा सरकार ने सात साल की सेवाएं इसी राज्य में देना अनिवार्य किया है।

Source : More...
next
दिल्ली के पालम हत्याकांड से याद आया 2018 का ट्रिपल मर्डर, जब सूरज ने मां-बाप और बहन को केशव की तरह मार डाला था

। श्रद्धा हत्याकांड के खुलासा होने के 10 दिन के भीतर दिल्ली पालम इलाके में दिल को दहला देने वाले एक मामले में नशे में धुत युवक ने अपने माता- पिता, बहन व दादी की बेरहमी से हत्या कर दी। 25 वर्षीय युवक केशव सैनी ने पैसे नहीं देने से नाराज होकर पहले दादी दीवानो देवी (75) फिर पिता दिनेश कुमार सैनी (48), मां दर्शन सैनी (47) और सबसे आखिर में अपनी छोटी बहन उर्वशी (22) को चाकू से गोदकर मार डाला। दिल्ली पुलिस के मुताबिक, केशव ने सबसे पहले दादी को गुस्से में गला दबाकर मार दिया और फिर इसके बाद तीनों हत्याएं चाकू से गोदकर की। ये हत्या तकरीबन 3 घंटे के अंतराल पर की गईं।

Source : More...
next
Punjab: लड़कों के साथ प्रेक्टिस कर पटियाला की मन्नत बनी क्रिकेटर, न्यूजीलैंड को अपनी फिरकी में फंसाएगी

जागरण संवाददाता, पटियाला। शाही शहर पटियाला की मन्नत कश्यप (अंडर-19) का न्यूजीलैंड के खिलाफ मुंबई में 27 नवंबर से खेली जाने वाली पांच मैचों की सीरीज के लिए भारतीय टीम में चयन होने से परिवार में खुशी का माहौल है। मन्नत व परिवार को लगातार बधाइयां मिल रही हैं।

Source : More...
next
Nepal Election 2022: नेपाल में गठबंधन सरकार में बड़ी भूमिका निभा सकती है ये नई पार्टी, जानें- पीएम के दावेदार

भारत के पड़ोसी मुल्‍क नेपाल के आम चुनाव में किसी भी राजनीतिक पार्टी को बहुमत मिलता नजर नहीं आ रहा है। इससे एक बार फ‍िर देश में गठबंधन सरकार बनाने की सुगबुगाहट तेज हो गई है। इन नतीजों के रुझानों से यह सुनिश्चित हो गया है कि नेपाल में राजनीतिक अस्थिरता का संकट बरकरार रहेगा। नेपाल में आम चुनाव के सभी नतीजे भले न सामने आए हो, लेकिन प्रधानमंत्री पद की दावेदारी शुरू हो गई है। इसके साथ इस कड़ी में हम यह भी जानेंगे कि गठबंधन सरकार में राष्ट्रीय स्वतंत्र पार्टी कैसे एक बड़ी भूमिका निभा सकती है। आखिर राष्‍ट्रीय स्‍वतंत्र पार्टी कब अस्तित्‍व में आई। इसके संस्‍थापक कौन हैं।

Source : More...
next
Road Safety: देश में नेशनल हाईवे पर होती हैं सबसे अधिक दुर्घटनाएं, पढ़े एनसीआरबी की ताजा रिपोर्ट

देश में नेशनल हाईवे का दायरा लगातार बढ़ रहा है। लंबाई बढ़ने के साथ ही कई स्थानों पर नेशनल हाईवे पर लेन की संख्या भी अधिक की जा रही है। एनसीआरबी की ताजा रिपोर्ट के आंकड़े बताते हैं कि देश में नेशनल हाईवे पर ही सबसे अधिक दुर्घटनाएं हो रही हैं। स्टेट हाईवे पर भी बड़ी संख्या में सड़क दुर्घटनाएं होती हैं।

Source : More...
next