बंटवारे के बाद पाकिस्तान से दून आया यह परिवार, नदी से पत्थर बीनकर चलाई आजीविका; कड़े परिश्रम से बने पुरुषार्थी

बंटवारे के बाद लाखों लोगों को अपने घरों से दूर जाकर अपनी नई दुनिया बसानी पड़ी थी। आज जब देश

Source : More...
next
Sawan 2022: खुले आसमान के नीचे है शिवलिंग, जानें कानपुर के भोलेनाथ धाम को क्यों कहते हैं भोली देवी मंदिर

भीतरगांव ब्लाक के परौली गांव में रिंद नदी के किनारे भोलानाथ धाम उर्फ भोली देवी का मंदिर स्थित है। प्राचीन मंदिर पुरातत्व विभाग द्वारा संरक्षित है। यह मंदिर भक्तों की आस्था का प्रमुख केंद्र रहता है। शहर व ग्रामीण क्षेत्रों से श्रावण मास में बड़ी संख्या में शिवभक्त महादेव के दर्शन के लिए पहुंचते हैं। मंदिर में शिवलिंग के साथ कई देवियों की प्रतिमाएं स्थापित है। इसलिए इस मंदिर को भोली देवी मंदिर के नाम से भी जाना जाता है।

Source : More...
next
China Five Finger Policy: 70 साल से भारत को घेरने में जुटा चीन, सिंगापुर से ज्यादा जमीन पर है कब्जा

ड्रैगन के खतरनाक पंजों से बचने के लिए जूझ रहा ताइवान अकेला देश नहीं है। बल्कि चीन के सभी पड़ोसी देश, उसकी विवादित विस्तारवादी नीति से परेशान हैं। दुनिया के नक्शे में चीन सबसे ज्यादा 14 देशों के साथ अपनी सीमाएं साझा करता है और सबसे उसका सीमा विवाद है। भारत भी इन देशों में से एक है। नेपाल, भूटान व तिब्बत समेत तीन भारतीय राज्यों पर कब्जे की चीनी साजिश, उसकी विवादित फाइव फिंगर पॉलिसी (Five Finger Policy or Palm Policy) के नाम से जानी जाती है।

Source : More...
next
Independence Day 2022: आगरा में धधक उठी थी अगस्त क्रांति की ज्वाला, एक आवाज ने दी थी गूंगों को भी जुबान

देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। हर घर तिरंगा के लक्ष्य के साथ आजादी की 75वीं सालगिरह का उत्सव मनाने की तैयारियां जोर-शोर से चल रही हैं। 80 वर्ष पूर्व महात्मा गांधी के आह्वान पर नौ अगस्त, 1942 को शहर में क्रांति की ज्वाला धधक उठी थी। शहर के हर गली-मुहल्ले से आजादी के दीवानों की टोलियां सड़कों पर निकल आई थीं। ब्रिटिश सरकार के उत्पीड़न के खिलाफ गर्व से सिर उठाकर शहरवासियों ने आजादी का बिगुल फूंक दिया था।

Source : More...
next
China Taiwan Tension: केवल ताइवान नहीं, 14 पड़ोसी देशों से है चीन का सीमा विवाद; जमीन से समुद्र तक अवैध कब्जा

दुनिया के नक्शे पर चीन एक ऐसा देश है, जो अपने पड़ोसी मुल्कों की जमीन पर अवैध कब्जे को लेकर सबसे ज्यादा विवादों में रहता है। दरअसल चीन दुनिया के नक्शे पर सबसे ज्यादा, 14 देशों के साथ अपनी सीमा साझा करता है। ड्रैगन ने अपनी विवादास्पद विस्तार वादी नीति के तहत सभी पड़ोसी देशों की जमीन पर या तो कब्जा कर रखा है या कब्जे का प्रयास करता रहता है। भारत भी इससे अछूता नहीं है। भारत के सीमावर्ती राज्यों और नेपाल व भूटान देश पर कब्जे को चीन की विवादित

Source : More...
next
Snake Bite : भारत में 70 फीसद सांप जहरीले नहीं फिर काटने से क्यों होती है इंसान की मौत, पढ़ें ये खास रिपोर्ट

बरसात के मौसम में जलभराव होने पर सांप अपने बिलों से निकलकर सुरक्षित ठिकाने ढूंढ़ने लगते हैं। इस वजह से सांप काटने की घटनाएं बढ़ जाती हैं। ऐसे में लोग घबरा जाते हैं लेकिन अधिकतर को यह पता नहीं होता कि भारत में मिलने वाले 70 प्रतिशत सांप जहरीले नहीं होते हैं।

Source : More...
next
1942 में आज के दिन अंग्रेजों के खिलाफ कानपुर की सड़कों पर निकल पड़े थे लोग, पढ़ें क्रांति की उस रात की दास्तां

महात्मा गांधी ने देश की स्वाधीनता को लेकर जब नौ अगस्त, 1942 को अंग्रेजों भारत छोड़ो का आह्वान किया तो आठ अगस्त की रात में ही कानपुर में हलचल तेज हो गई थी। देर रात तक बड़ा चौराहा से मेस्टन रोड जाते समय बायीं तरफ स्थित तिलक हाल के पास श्रद्धानंद पार्क में लोग जुटने लगे।

Source : More...
next
Kashi Vishwanath Temple : बाबा विश्‍वनाथ के झुलनोत्सव में भी छाएगा आजादी के अमृत महोत्सव का रंग

बाबा को प्रिय मास सावन और दूसरी ओर आजादी का अमृत महोत्सव मनाया जा रहा है। पूर्णिमा पर बाबा झूले पर विराजेंगे और सावन को विदाई देंगे। साथ में माता गौरा होंगी तो पुत्र गणेश भी इस उत्सव का आनंद लेते नजर आएंगे। स्वर्णिम गर्भगृह में सजी दिव्य भव्य झांकी पर श्रद्धालु बरबस ही रीझ जाएंगे। इस खास मौके को मंदिर प्रशासन राष्ट्र भक्ति के रंगों से भी सराबोर करेगा।

Source : More...
next
Independence Day: किशन लाल के हाथ में थी भारत छोड़ो आंदोलन में दिल्ली की कमान

नजफगढ़ का ऐतिहासिक दिल्ली गेट का नाम वैद्य किशन लाल द्वार है। बहुत ही कम लोगों को यह पता है कि महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) के आह्वान पर वैद्य किशन लाल ने न सिर्फ देश की आजादी में योगदान दिया, बल्कि आजादी के बाद भी वे गांधी के बताए रास्ते पर आजीवन चलते रहे।

Source : More...
next
Himachal Vidhan Sabha Chunav: सत्ता में वापसी के लिए कांग्रेस की रणनीति तय, इन छह मुद्दों पर काम करेगी पार्टी

Himachal Pradesh Vidhan Sabha Chunav, सत्ता में वापसी के लिए प्रदेश कांग्रेस ने रणनीति तैयार कर ली है। विधानसभा चुनाव के लिए तैनात मुख्य पर्यवेक्षक भूपेश बघेल की अध्यक्षता में पार्टी कोर ग्रुप की बैठक बीते कल देर शाम सिसिल होटल शिमला में हुई। बैठक तीन घंटे से भी ज्यादा समय तक चली। प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने चुनावी तैयारियों पर प्रस्तुति दी। पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन में हर मुद्दे पर विस्तृत चर्चा हुई। पार्टी ने निर्णय लिया है कि ऐसी कोई भी घोषणा नहीं की जाएगी, जिसे पूरा नहीं किया जा सकता। प्रदेश कांग्रेस ने बताया कि चुनाव में क्या मुद्दे होंगे, घोषणा पत्र का प्रारूप क्या रहेगा।

Source : More...
next